ब्रह्माण्ड का कैलेंडर

1 जनवारी (12:00am):बिग-बैंग महाविस्फोट(ब्रह्माण्ड की उत्त्पत्ति)

10 फरवरी: ब्रह्माण्ड को अपना सबसे पहेला अणु मिला जो था हाइड्रोजन

15 मार्च: पहेले सितारोकी और फिर आकाशगंगाओ की उत्त्पत्ति

1 मई: हमारी आकाशगंगा मन्दाकिनी की उत्त्पत्ति

8 सितम्बर: हमारे सूर्य की उत्त्पत्ति

9 सितम्बर: हमारे सूर्यमंडल की उत्त्पत्ति

12 सितम्बर: हमारी पृथ्वी की उत्त्पत्ति

13 सितम्बर: चाँद की उत्त्पत्ति
20 सितम्बर: धरती पर वायुमंडल की उत्त्पत्ति

1 ओक्टोबर: धरती पे सबसे पहेले एक कोशिय जिवो की उत्त्पत्ति

18 दिसंबर: बहु कोशिय जीवो की उत्त्पत्ति

19 दिसंबर: पहेली मछली

21 दिसंबर: स्थली पौधे और कीड़ो की उत्त्पत्ति

23 दिसंबर: पहेले सरीसृप (रेंगने वाले)

24 दिसंबर: डायनासोर की उत्त्पत्ति

26 दिसंबर: पहेले स्तनधारी जीवो की उत्त्पत्ति

27 दिसंबर: पहेले पक्षियों की उत्त्पत्ति

28 दिसंबर: पहेले फुल वाले पौधे

29 दिसंबर: डायनासोर का खात्मा

31 दिसंबर के रात के 11:55 बजे: मनुष्यों के कुल इतिहास से अब तक…

4 thoughts on “ब्रह्माण्ड का कैलेंडर”

  1. Pruthvi par time yani samay ki gati puruthvi ke sun yane ki surya ke chakkr lagane par aadharit hai. Ya hamare dimag yani brain par .ya koi dusra karan reason hai. Ya fir e=mc2 par aadharit hai .e=mc2 par aadharit hai to Kaiser. Kya space me samay ki gati jyada ya kum ho sakti hai. Mere dimag me bahot hi sawal hai lekin expose nahi karparahu

    Reply

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.