पृथ्वी का पड़ोसी ब्लैक होल

हमारे ब्रह्माण्ड में कई रहस्यमय राज़ छुपे हुए हे. जेसे की हम एक ऐसे तारे को जानते हे जो हमारे सूर्य से लाखो गुना बड़ा है और एक ऐसे ग्रह को जानते हे जो पूरा हीरे (Diamond) से बना हुआ हे. आज में आपके सामने एसे ही एक रोचक और रहस्यमय राज़ की बात करने जा रहा हु. जो है हमारी पृथ्वी का सबसे नजदीकी ब्लैक होल…

हमारी पृथ्वी से सबसे नजदीकी ब्लैक होल का नाम ‘V616’ (Monocerotis) है. यह हमसे लगभग 3000 प्रकाश वर्ष दूर स्थित हे. ये ब्लैक हॉल हमारे सूर्य से 13 गुना बड़ा हे. ब्लैक हॉल ब्रह्माण्ड की कोई भी चीज को अपने में खीचते है. वो अपने नजदीकी तारे को धीरे धीरे वायुमय स्थिति में लाके अपने में समां लेते है. वास्तव में हम ये अनुमान नहीं लगा सकते के ब्लैक हॉल कितना दूर है. क्योंकि वैज्ञानिक उसे प्रत्यक्ष नहीं देख सकते है. वो तो बस ये अनुमान लगा सकते हे की अगर किसी ग्रह या तारे को कोई खगोलीय पिंड निगल जाता हे तो जो क्ष-किरणे निकलती हे उससे वहां कोई नजदीकी ब्लैक हॉल होने का अनुमान लगाया जा शकता हे.

मान लीजिये की अगर कोई ब्लैक हॉल हमारी पृथ्वी के खोजे गए नजदीकी ब्लैक होल V616 से भी नजदीक हो, लेकिन उसके आसपास कोई तारा या ग्रह नहीं है तो उसकी मौजूदगी का हमे पता ही नहीं चलेगा. ये बात हुई पृथ्वी के सबसे नजदीकी ब्लैक हॉल की, अब ये जानते हे की हमारी पृथ्वी के लिए वो कितना खतरनाक हे या नहीं है!

तो जवाब है, उसका आधार ब्लैक हॉल के घनत्व (Mass), और पृथ्वी और ब्लैक हॉल के अंतर पर निर्भर करता हे. मान लीजिये की हमसे 14,96,00,000 किलोमीटर की दुरी वाला हमारा सूर्य ही भविष्य में ब्लैक हॉल में रूपान्तरित हो जाये, तो वो हमारी पृथ्वी को चपेट में ले सकता है. लेकिन हजारो प्रकाश वर्ष दूर स्थित कोई ब्लैक होल हमारी पृथ्वी को कोई हानि नहीं पहोचा सकता. लेकिन अगर किसी ब्लैक होल का घनत्व इतना ज्यादा है की वो किसी गेलेक्सी को भी निगल जाये तो फिर उसकी क्षितिज और गुरुत्वाकर्षण काफी दूर तक असर पैदा कर सकता है. खेर फ़िलहाल तो हमारी पृथ्वी को किसी ब्लैक होल से कोई खतरा नहीं है…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *